अमेलिया कोयला खदान

  • परिचय
    1. अमेलिया कोयला ब्‍लाक मध्‍य प्रदेश के सिंगरौली जिले में स्‍थित है।
    2. पूर्व में यह ब्‍लाक कोयला मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा 12.01.2006 को मध्‍य प्रदेश राज्‍य खनन कॉरपोरेशन लि. को आवंटित किया गया था ।
    3. उत्‍तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में स्‍थित खुर्जा एसटीपीपी(1320 मे.वा.) की ईधन आवश्‍यकताओं को पूरा करने के लिए अमेलिया कोयला खदान 17.01.2017 को कोयला मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा टीएचडीसीआईएल को पुन: आवंटित की गई।  बुलंदशहर, उ.प्र. अमेलिया कोयला खदान से रेल मार्ग द्वारा 856 किमी की दूरी पर स्थित है । 
    4. सीसीईए ने अमेलिया कोयला खदान हेतु 1587.16 करोड़ रु. ( दिसंबर, 2017 के मूल्‍य स्‍तर पर ) का निवेश अनुमोदन प्रदान किया । 
    5. पूर्णता की तिथि/ ओपनिंग की अनुमति : शून्‍य तिथि 11.12.2018 से 44 माह ( अर्थात 11.08.2022) 
  • मुख्‍य विशेषताएं
    • कोयला खदान की उच्‍चश्रेणी क्षमता :           5.6 मि.टन प्रति वर्ष (ओसी) 
    • स्‍ट्रिपिंग अनुपात                           :           3.67एम3 /टी
    • कोयले का ग्रेड                               :           जी9 (औसत. जीसीवी = 4746 केसीएएल/किग्रा)
    • निवल भूगर्भीय आरक्षित                 :           162.05 मि.टन
    • खुदाई हेतु आरक्षित  कोयला                        :           139.48 मि.टन
    • खदान की अवधि, उत्‍तरी खदान       :           28 वर्ष
    • प्रचालन का प्रकार                          :           एमडीओ
    • खदान की ओपनिंग                                    :           अगस्‍त’2022 
    • उत्‍पादन का प्रारंभ                          :           दूसरे वर्ष
    • पीआरसी की प्राप्‍ति                                    :           चौथे वर्ष
    • कोयला परिवहन का रूप                 :           खदान से देवराग्राम रेलवे स्‍टेशन तक कनवेयर द्वारा
                                                                      देवराग्राम रेलवे स्‍टेशन से खुर्जा एसटीपीपी तक रेल द्वारा

     
  • महत्‍वपूर्ण  घटनाएं
     
    दिनांकघटना
    29.08.2016खर्जा एसटीपीपी की ईंधन की आवश्‍यकता को पूरा करने के लिए कोयला मंत्रालय,भारत सरकार ने अमेलिया कोयला खदान टीएचडीसीआईएल को आबंटित की ।
    15.12.2016कोयला मंत्रालय, भारत सरकार एवं टीएचडीसी इंडिया लि. के मध्‍य आवंटन करार पर हस्‍ताक्षर किए गए
    17.01.2017अमेलिया कोयला खदानका आवंटन आदेश टीएचडीसीआईएल को जारी किया गया।
    12.12.2018पर्यावरण वन एवं मौसम परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा 411.50 हे. वन भूमि की कटौती  के उपरांत 843.76 हे. वन भूमि  के परिवर्तन हेतु  चरण-I की वन मंजूरी प्रदान की गई ।
    07.03.2019सीसीईए ने अमेलिया कोयला खदान के लिए अनुमानित लागत रु. 1587.16 करोड़ रु. ( दिसंबर, 2017 के मूल्‍य स्‍तर) का निवेश अनुमोदन प्रदान किया गया ।
    28.03.2019अमेलिया कोयला खदान से होकर गुजरने वाली मौजूदा 03 नं. एचटी लाईनों को परिवर्तन/शिफ्ट करने हेतु पीजीसीआईएल के साथ एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए गए ।
    31.08.2019गांव पिडरवाह की 336.59 हे. निजी भूमि (भूमि अधिग्रहण अधिनियम 1894 के अंतर्गत 27.11.2009को घोषित की गई)का अवार्ड पुनरीक्षित एवं घोषित किया गया ।
    15.10.2019 कलेक्‍टर, सिंगरौली ने सरकारी भूमि जोकि सामान्‍य उद्देश्‍य के लिए आरक्षित थी, के उपयोग परिवर्तन का आदेश पारित किया था ।
    28.11.2019पीजीसीआईएल ने एचटी लाइनोंको शिफ्ट करने का कार्य अवार्ड किया ।
    24.12.2019अमेलिया कोयला खदान परियोजना के प्रभावित परिवारोंहेतु आर एण्‍ड आर नीति कमीशनर रेवा के द्वारा अनुमोदित की गई ।
    13.03.2020कोयला मंत्रालय द्वारा पीआरसी 5.6 एमटीपीए के साथ पुनरीक्षित खनन योजना (खनन क्‍लोजर योजना सहित)अनुमोदित की गई।
    02.05.20208एमवीए एचटी लाइन के कनेक्‍शन हेतु टीएचडीसीआईएल एवं एमपीपीकेवीवीसीएल के मध्‍य करार कार्यान्वित किया गया ।
    04.12.2020आर एण्‍ड आर स्‍थल के सतह समतलीकरण एवं बाउण्‍ड्री वॉल के निर्माण के लिए आर एण्‍ड आर कालोनी की लेआउट योजना एवं विस्‍तृत प्राक्‍कलन तैयार करने हेतु टीएचडीसीआईएल एवं एमपीएचआईडीबी के मध्‍य एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए गए ।
    15.02.2021पर्यावरण वन एवं मौसम परिवर्तन मंत्रालय द्वारा चरण-II की वन मंजूरी
    13.05.20210.87 हे. वनभूमि के परिवर्तन हेतु प्रस्‍ताव पर्यावरण वन एवं मौसम परिवर्तन मंत्रालय के परिवेश पोर्टल पर जमा किया गया।
    03.08.2021पर्यावरण वन एवं मौसम परिवर्तन मंत्रालय ने पर्यावरण मंजूरी(ईसी) को टीएचडीसीआईएल के नाम पर अंतरण करने की अनुमति हेतु अनुमोदन प्रदान किया ।
    16.08.2021अनु सचिव, मध्‍य प्रदेश सरकार, खनिज संसाधन विभाग, भोपाल द्वारा खनन लीज स्‍वीकृत की गई
    24.08.2021टीएचडीसीआईएल एवं जिला कलेक्‍टर, सिंगरोली के मध्‍य खनन लीज करार पर हस्‍ताक्षर किए गए। 
    06.09.2021खनन लीज करार रजिस्‍ट्रार , सिंगरौली के कार्यालय में पंजीकृत करवाया गया ।
    13.09.2021जिला कलेक्‍टर, सिंगरौली के द्वारा कोयला ब्‍लॉक की सरकारी भूमि में प्रवेश करने एवं खनन कार्य प्रारंभ करने की अनुमति प्रदान की गई ।
    13.09.2021एस्‍क्रो खाता खोला गया तथा एस्‍क्रो खाता करार पर टीएचडीसीआईएल, कोयला नियंत्रक संगठन एवं एस्‍क्रो एजेंट ( पंजाब नेशनल बैंक ) के मध्‍य हस्‍ताक्षर किए गए ।
    24.09.20221सीईसी एवं आरएस के लिए आवश्‍यक 0.87 हे. वन भूमि हेतु चरण-I की वन मंजूरी प्रदान की गई ।
    28.09.2021स्‍थल समतलीकरण कार्य हेतु टीएचडीसीआईएल एवं एमपीएचआईडीबीके मध्‍य एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए गए ।
    04.10.2021आर एण्‍ड आर कालोनी का परिकल्‍प, ड्राईंग,  प्राक्‍कलन इत्‍यादि तैयार करने हेतु आईआईटी, बीएचयू के साथ एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए गए । 
    06.10.2021अमेलिया कोयला ब्‍लॉक की बॉउण्‍ड्री के साथ लगे 7.5 मी. चौड़े क्षेत्र में फेंसिंग एवं पौधारोपण कार्य हेतु वन विकास निगम लि. के साथ एमओयू पर हस्‍ताक्षर किए गए ।
    14.10.2021मध्‍य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने जल अधिनियम 1974 एवं वायु अधिनियम 1981 के अंतर्गत स्‍थापित करने हेतु सहमति (सीटीई) प्रदान की ।
    20.12.2021सीईसी एवं आरएस की सरकारी भूमि(14.288 हे.) एवं निजी भूमि (11.540 हे.) के लिए कलेक्‍टर, सिंगरौली के द्वारा कब्‍जा प्रदान किया गया । 
    19.01.20220.87 हे. वन भूमि के परिवर्तन हेतु कलेक्‍टर, सिंगरौली के द्वारा एफआरए प्रमाणपत्र जारी किया गया।  
    27.01.2022सीईसी एवं आरएस की 0.87 हे. वन भूमि के परिवर्तन हेतु चरण-II/अंतिम मंजूरी मध्‍य प्रदेश राज्‍य  सरकार द्वारा प्रदान की गई। 
    15.02.2022कोयला मंत्रालय द्वारा खदान ओपनिंग अनुमति प्रदान की गई ।
  • परियोजना से लाभ :

    अमेलिया कोयला खदान कुल 162.05 मीट्रिक टन( 139.48 मीट्रिक टन खनन योग्‍य कोयला संरक्षण) कोयले को संरक्षित  करती है जो  खुर्जा में खुर्जा एसटीपीपी(1320 मे.वा.) की ईंधन आवश्‍यकता को पूरा करेगी ।
     




Updated on : 06/04/2022