अल्ट्रा मेगा नवीकरणीय ऊर्जा पावर पार्क (जेवीसी के माध्‍यम से)

  • एमएनआरई ने उत्‍तर प्रदेश में 2000 मे.वा. एवं राजस्‍थान में 1500 मे.वा. की क्षमता के यूएमआरईपीपी टीएचडीसीआईएल को आबंटित किए हैं। इन यूएमआरईपीपी की स्थिति निम्‍नानुसार है:-

    1. उत्‍तर प्रदेश
    टीएचडीसीआईएल एवं यूपीनेडा के मध्‍य एक संयुक्‍त उपक्रम कंपनी नामत: टस्‍को लिमिटेड 12.09.2020 को पंजीकृत की गई। एमएनआरई ने समग्र 2000 मे.वा. के सौर विद्युत पार्क के लिए सैधांतिक अनुमोदन प्रदान कर दिया है।

    i) 600 मे.वा. सौर विद्युत पार्क, झांसी
    • माननीय प्रधानमंत्री जी ने 19.11.2021 को 600 मे.वा. के सौर पार्क, झांसी का शिलान्‍यास भी कर दिया गया है।
    • सौर पार्क लगाने हेतु झांसी जिले में लगभग 3121 एकड़ भूमि(340 एकड़ सरकारी भूमि-एवं 1405 किसानों की 2781 एकड़ निजी भूमि) की पहचान कर ली गई है। झांसी सौर पार्क की डीपीआर एसईसीआई एवं एमएनआरई दोनों को भेज दी गई है। इस समय डीपीआर एसीएस द्वारा अध्‍यक्षता की जा रही उच्‍च स्‍तरीय समिति के अनुमोदन के अधीन है एवं जनवरी, 22 तक अनुमोदित किए जाने की संभावना है।
    • निजी भूमि हेतु 1415 किसानों में से 822 किसानों के साथ लीज करार पर हस्‍ताक्षर किए जा चुके हैं।
    • सौर पार्क का विकास मार्च, 2023 तक किया जाना प्रत्‍याशित है।   
    • पीपीए पर हस्‍ताक्षर हेतु यूपीपीसीएल द्वारा सैधांतिक सहमति प्रदान कर दी गई है।
     ii) 600 मे.वा. सौर विद्युत पार्क, ललितपुर
    • सौर पार्क लगाने हेतु ललितपुर जिले में लगभग 2800एकड़ भूमि (977 एकड़ सरकारी भूमि-एवं 1240 किसानों की 1823 एकड़ निजी भूमि) की पहचान कर ली गई है।
    • सौर पार्क की डीपीआर एसईसीआई एवं एमएनआरई दोनों को भेज दी गई, जिस पर निर्णय लिया जा रहा है।
    • निजी भूमि हेतु 1240 किसानों में से 419 किसानों के साथ लीज करार पर हस्‍ताक्षर किए जा चुके हैं।
    • सौर विद्युत पार्क का विकास मार्च, 2023 तक किया जाना प्रत्‍याशित है।
     iii) 800 मे.वा. सौर विद्युत पार्क, ललितपुर
    • सौर पार्क लगाने हेतु लगभग 3005 एकड़ भूमि(830 एकड़ सरकारी भूमि-एवं 1250 किसानों की 2175 एकड़ निजी भूमि) की पहचान कर ली गई एवं शेष 1000 एकड़ भूमि की पहचान की जा रही है। 
    • किसानों से रूचि की अभिव्‍यक्‍ति(ईओआई)‍/सहमति प्राप्‍त करना प्रगति पर है लगभग 1400 किसानों में से 815 से सहमति /ईओआई प्राप्‍त की जा चुकी है। 
    • सौर विद्युत पार्क का विकास अगस्‍त, 2023 तक किया जाना प्रत्‍याशित है।
     II. राजस्‍थान :
      हाल ही में, अपर मुख्‍य सचिव, राजस्‍थान सरकार ने राजस्‍थान में टीएचडीसीआईएल के द्वारा संयुक्‍त उपक्रम मोड में लगभग 2000- 5000 मे.वा. के यूएमआरईपीपी स्‍थापित करने हेतु अपनी सहमति प्रकट कर दी है। टीएचडीसीआईएल एवं आरआरईसीएल ने एमओयू हस्‍ताक्षर करने की प्रक्रिया में तेजी लाने एवं प्रस्‍तावित यूएमआरईपीपी के विकास के लिए जेवी की स्‍थापना हेतु पहले से ही अपने संबंधित नोडल अधिकारी नामित कर दिए हैं। इस आशय के एमओयू पर शीघ्र हस्‍ताक्षर होना प्रत्‍याशित है।      
     




Updated on : 11/02/2022